शहर के पॉश इलाके त्रिकुटा नगर सेक्टर एक में खाली प्लाट में झुग्गी बनाकर रह रहे प्रवासी श्रमिक परिवार की किशोरी से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। किशोरी को अकेला पाकर आरोपित ने उसे हवस का शिकार बना लिया। वारदात के बाद से आरोपित फरार है। वहींए मामले के आरोपित अजय कुमार निवासी त्रिकुटा नगर के परिजनों का आरोप है कि उनके बेटे पर किशोरी ने झूठे आरोप लगाकर फसाया है। त्रिकुटा नगर पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।
थाने में दर्ज शिकायत में किशोरी ने बताया कि दुष्कर्म की वारदात बीते बुधवार दोपहर तीन बजे की है। उसका परिवार काम के सिलसिले में गया हुआ था। इस दौरान आरोपी अजय कुमार प्लाट में घूस आया। दरअसल आरोपित अमित के पिता का वह प्लाट है यहाँ प्रवासी श्रमिक रहते हैं। वारदात के समय वह झुग्गी में अकेली थी। जैसे ही वह झुग्गी से पानी लेने के लिए बाहर निकली तो आरोपित की नजर उस पर पड़ी। पानी लेकर जैसे ही वह झुग्गी के अंदर घुसी तो आरोपित भी झुग्गी में आ गया। उसने जबरन दरवाजा बंद कर दिया। पीड़िता ने खूब चिल्लाया लेकिन आसपास उसकी आवाज सुनने वाला कोई भी नहीं था। इसका लाभ उठाकर आरोपी ने उससे दुष्कर्म कर डाला। वारदात के बाद पीड़िता ने अपने परिवार को फोन पर इसकी जानकारी दी। उसके भाई और मां का सूचना पाते ही वहां पहुंच गए। प्लॉट मालिक के रसूख के चलते उनकी हिम्मत पुलिस थाने जाने कि नहीं हुई। पीड़िता की मां ने इसके बाद उनके पड़ोस के एक घर में रहने वाली महिला को वारदात की जानकारी दी। जो पीड़िता और उसके परिवार को लेकर त्रिकुटा नगर पुलिस स्टेशन में पहुंचे। एसएचओ त्रिकुटा नगर दीपक पठानिया का कहना है कि पुलिस ने तुरंत किशोरी की मेडिकल जांच करवाई और आरोपित के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दबिश दी लेकिन वह फरार हो चुका था। वहींए मामले के आरोपित अजय कुमार के पिता सोमनाथ का कहना है कि उस पर आरोप लगाने वाली किशोरी ने उनके बेटे को प्रेम जाल में फंसाया है। वह उनके बेटे से लगातार पैसे एंट रही थी। अब जब उनके बेटे ने पैसे देने से मना कर दिया तो किशोरी ने अपने परिवार के साथ मिलकर उनके बेटे पर यह झूठा आरोप लगा दिया।

LEAVE A REPLY