जम्मू.कश्मीर में यूनिवर्सल स्तर पर शुरू की गई जम्मू.कश्मीर स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत नए बीमा धारकों को लाभ नहीं मिल पाया है। गत सितंबर के मध्य में इस योजना को व्यापक स्तर पर शुरू किया गया थाए जिसमें अब तक प्रदेश में करीब 13 लाख नए लोगों को पंजीकृत किया जा चुका है। पुराने मिलाकर अब तक करीब 26 लाख लोग पंजीकृत हो चुके हैंए लेकिन नए पंजीकृत मामलों में लाभार्थियों को स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। इन लोगों को गोल्डन कार्ड जारी नहीं किए गए हैं। हालांकि पुराने पंजीकृत धारकों को यह लाभ मिल रहा है। योजना के तहत जम्मू.कश्मीर के सभी नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है। इससे पहले आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत लोगों को वर्ष 2011 के सामाजिक और आर्थिक जनगणना के आधार पर पंजीकृत किया गया था। नई योजना में सेवानिवृत्त कर्मियों को भी कवर किया जाना है। योजना के तहत संबंधित पोर्टल पर नए लाभार्थियों को पंजीकृत किया जा रहा हैए लेकिन अब तक उन्हें गोल्डन कार्ड जारी न करने से उन्हें स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। संबंधित अधिकारियों का कहना है कि पंजीकरण की प्रक्रिया जारी है और सरकार की ओर से मंजूरी मिलने के बाद गोल्डन कार्ड जारी किए जाएंगे।