लॉकडाउन को प्रभावी बनाने के लिए पूरे जम्मू शहर को पुलिस ने कंटीली तारों में जकड़ दिया है लेकिन कई जगहों पर यह कंटीली तारें हादसों का कारण भी बन रही है। इस समय पुलिस ने लगभग हर उस गली, रास्ते पर कंटीली तारों को लगा दिया है जहां से अकसर लोगों का आना जाना होता था लेकिन स्टील की यह कंटीली तारें न तो रात को और न ही दिन को कुछ दूर से नजर आती हैं जिस कारण कई वाहन सवार जिनमें दोपहिया वाहन सवार शामिल हैं, फंस रहे हैं।

लॉकडाउन में वैसे तो लोगों को घरों से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है लेकिन इसके बावजूद आपात सेवा से जड़े या आपात स्थिति में लोग बाहर निकल सकते हैं। ऐसे में किसी आपात स्थिति में बाहर निकले लोगों को एक तो गली, मोहल्लों से बाहर मेन रोड पर पहुंचने के लिए कहीं रास्ता नजर नहीं आता क्योंकि हर जगह कंटीली तारें लगा रखी हैं और कई बार वे अंधेरे या तेज धूप में इन तारों के नजर न आने के चलते उनमें फंस रहे हैं।

शहर में कई जगहों पर कंटीली तारों में फंसे दोपहिया वाहनों को निकालते हुए लोग दिख रहे हैं जो आसानी से निकल नहीं पाते। उधर लॉकडाउन को प्रभावी बनाने में लगी पुलिस का कहना है कि यह तारें लोगों की आवाजाही रोकने के लिए ही लगाई गई हैं जबकि लोगों का कहना है कि इन तारों से आपात व आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग ही परेशान हो रहे हैं क्योंकि यहां तार लगाई जाती है। वहां यह बताने के लिए न तो पुलिसकर्मी खड़ा मिलता है और न ही कोई निशान तार पर लटकाया जाता है जिससे पता चल सके कि यहां पर सड़क के बीच तार लगी है। उसमें फंसने के बाद ही कई बार पता चल पाता है कि यहां कंटीली तार लगी है।

 

LEAVE A REPLY