जम्मू। शहर में खुल रही शराब की दुकानों को लेकर विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को भी शक्ति नगर में शराब की दुकान खुलने पर महिलाओं ने प्रदर्शन किया। जैसे ही दुकान में स्टॉक पहुंचा तो स्थानीय महिलाओं ने नारेबाजी शुरू कर दी और आत्मदाह की चेतावनी दी। विवाद बढ़ता देख पुलिस भी मौके पर पहुंची और अधिकारियों की मौजूदगी में दुकानदार ने दुकान में स्टॉक रखवाया। महिलाओं का कहना है कि वे अपने घर के पास शराब की दुकान नहीं खुलने देंगी। यहां पहले नान की दुकान थी, लेकिन अब शराब की दुकान खोल दी है।

प्रदर्शनकारी महिलाओं ने कहा कि उनके घरों में बहू-बेटियां हैं। जब शराब की दुकान खुलेगी तो हर पल यहां पर नशेड़ियों का जमावड़ा लगा रहेगा। इससे उनके बच्चों पर भी बुरा असर पड़ेगा। महिलाओं ने चेतावनी दी कि यदि दुकान खुलती है तो वे इसके सामने आत्मदाह कर लेंगी। बता दें कि शहर के कई रिहायशी इलाकों में शराब की दुकानें खुल रही हैं, जिनका लोग विरोध कर रहे हैं। इससे पहले प्रेम नगर, न्यू प्लॉट और चौक चबूतरा में भी प्रदर्शन हो चुके हैं। नई आबकारी नीति के तहत कई नई लोकेशन पर दुकानें खुल रही हैं, जिसका विरोध किया जा रहा है।

——
वार्ड-26 में खुलीं शराब की
दुकानें बंद करवाएं मंडलायुक्त
जम्मू। जम्मू वेेस्ट असेंबली मूवमेंट ने मंडलायुक्त राघव लंगर से रिहायशी इलाकों में शराब की दुकानें न खोलने की मांग उठाई है। बुधवार को मूवमेंट के अध्यक्ष सुनील डिंपल ने मंडलायुक्त से मुलाकात कर बताया कि वार्ड-26 में शराब की 60 दुकानें खुली हैं, जिनकी एनओसी संबंधित तहसीलदारों द्वारा दी गई है, जबकि इसका स्थानीय स्तर पर विरोध हो रहा है। विरोध के बावजूद कैसे एनओसी दी जा सकती है। मंडलायुक्त ने आश्वासन दिया कि इसे लेकर बात की जाएगी।

LEAVE A REPLY