जन्म के बाद जिसने अभी ठीक से आखें भी नहीं खोली थी कि इस दुनिया से रुखसत हो गया। यह घटना सोमवार को अरनास क्षेत्र में घटी, जहा एक कार हादसे में 22 दिन के एक शिशु की मौत हो गई।
जानकारी के मुताबिक राजेंद्र सिंह पुत्र शिवराम और उनकी धर्मपत्नी अनीता देवी निवासी सुंगढ़ी के यहा 22 दिन पहले एक शिशु ने जन्म लिया था। अनीता देवी की डिलीवरी रियासी जिला अस्पताल में ही हुई थी। डाक्टर द्वारा छुट्टी देने पर तब वे लोग अपने घर सुंगड़ी चले गए थे। सोमवार को सेलेरियो कार में सवार होकर वे लोग सुंगड़ी से रियासी की तरफ जा रहे थे। शिशु को महिला ने गोद में लिया था। बाबा मोड़ इलाके में अनियंत्रित होकर कार के एक तरफ के टायर सड़क किनारे की निचली जगह पर उतर गए। इससे कार अचानक से एक तरफ झुक गई, जिससे कार में सवार लोगों के शरीर और कार की बाडी के बीच में आ जाने से शिशु पर काफी दबाव पड़ा। घटना के तुरंत बाद शिशु को अरनास प्राइमरी हेल्थ सेंटर ले जाया गया। वहा से उसे रियासी जिला अस्पताल भेज दिया गया, लेकिन कुछ ही समय में शिशु की मौत हो गई। रियासी जिला अस्पताल में जरूरी औपचारिकताएं पूरी कर शव स्वजनों को सौंप दिया गया। 22 दिन पहले जो परिवार शिशु के जन्म लेने के बाद उसे लेकर खुशी-खुशी घर लौटा था तो सोमवार को रोते-बिलखते उसका शव लेकर गए।
वहीं, राजौरी जिले की थन्ना मंडी तहसील के भंगाई क्षेत्र में हुए सड़क हादसे में चार लोग घायल हो गए। चारों को प्राथमिक चिकित्सा केंद्र थन्ना मंडी में भर्ती करवाया गया है, जहां पर उनका उपचार किया जा रहा है। इस संबंध में पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार सोमवार दोपहर को थन्ना मंडी के भंगाई क्षेत्र में मारुति कार नंबर जेके12ए-4371 तेज गति होने के कारण सड़क के बीच पलट गई। इस हादसे में कार में सवार नाजिया कौसर निवासी अजमताबाद, थन्ना मंडी, रऊफ अहमद निवासी शाहदरा, थन्ना मंडी, नौशाद खान व सबा मलिक निवासी पुंछ घायल हो गए। आसपास के लोगों ने सभी घायलों को वाहन से निकाल कर उपचार के लिए प्राथमिक चिकित्सा केंद्र थन्ना मंडी पहुंचाया। डाक्टरों का कहना है कि सभी घायलों की हालत खतरे से बाहर है।

LEAVE A REPLY