कहर बरपा रही कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर भी कई लोगों के लिए कोई मायने नहीं रखती है। बात करें अगर जम्मू ज़िले की तो यहां हाल ही में इस महामारी ने पहली दो लहरों का रिकॉर्ड तोड़कर रख दिया था और इसे विडंबना ही कहा जाएगा कि कई लोग लापरवाही का रिकॉर्ड भी तोड़ रहे हैं। ऐसे लोगों के लिए मास्क कोई मायने नहीं रखता जो बाज़ारों में सरेआम बिना मास्क के घूमते साफ दिखाई देते हैं। जम्मू शहर के बाज़ारों में तो ऐसे लोगों की भरमार साफ दिखाई देती है जिनके खिलाफ प्रशासन भी कोई कार्रवाई करने में संजीदगी नहीं दिखा रहा है। ये लोग औरों के लिए खतरा साबित हो रहे हैं और प्रषासन भी ये दावे करता आ रहा है कि कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर से किसी भी किस्म का समझौता नहीं किया जाएगा, लेकिन ये लोग सरेआम उसके इन दावों की पोल खोल रहे हैं।

LEAVE A REPLY