जम्मू—कश्मीर में कहर भरपा रही कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर के जल्द ही खत्म होने की अच्छी खबर सामने आ रही है! आप को बता दें कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ी हुई। कुछ दिनों में संक्रमण के मामलों में जिस तरह से तेजी दर्ज की गई, जम्मू—कश्मीर प्रशासन को कई सख्त कदम उठाने पड़े है। इन सब में अच्छी खबर भी आ रही है फरवरी के शुरूआती सप्ताह में कोरोना संक्रमण केे मामलों में और तेजी आने के बाद इसी महीने के अंत तक तीसरी लहर खत्म हो जाने वाली है! इस बारे में गवर्नमेंट मेडिकल कालेज श्रीनगर में सामुदायिक चिकित्सा विभाग के डॉ सलीम खान ने अभी तक की गई अपनी रिसर्च के तहत यह जानकारी दी ! जम्मू-कश्मीर में अभी तक जो संक्रमण के मामले सामने आए हैं, वे आम तौर पर ओमिक्रोन से संचालित है। बताया कि जनवरी के पहले सप्ताह के आंकड़ों में जम्मू-कश्मीर में लगभग 40 प्रतिशत मामले ओमाइक्रोन के कारण थे, तब से तीन सप्ताह बीत चुके हैं और वर्तमान में यह खत्म हो गया है। अब जो मामले आ रहे हैं ज्यादातर 90 फीसदी नए वेरिएंट की वजह से दिख रहे है। इसे डेल्टा वेरिएंट भी मान सकते हैं। धीरे-धीरे डेल्टा संक्रमण भी गायब हो जाएगा इसकी वजह यह है कि यह ओमाइक्रोन द्वारा विस्थापित होगा। ओमिक्रोन डेल्टा की तुलना में चार गुना अधिक संक्रामक दर से फैलता है। मौजूदा समय में तीसरी लहर के चरम पर पहुंचने वाले हैं। इसी फरवरी के पहले सप्ताह में इस लहर के चरम पर रहने की उम्मीद बताई जा रही है। परंतु फरवरी के अंत तक यह लहर भी खत्म होने वाली है। इसके साथ ही उनकी तरफ से आइसीएमआर का हवाला देते हुए कहा कि ओमाइक्रोन से ठीक होने के बाद मरीज के शरीर मेंं जो एंटीबॉडी विकसित हो रहा है वह संक्रमण के अन्य वेरिएंट से उनकी सुरक्षा करता है। इसमें यह भी पाया गया है कि ओमिक्रोन से ठीक होने वाले लोगों को डेल्टा संक्रमण नहीं होगा, जोकि बहुत अच्छी खबर है!

LEAVE A REPLY