आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शराब के कारोबार को लेकर जम्मू-कश्मीर में पिछले दो सालों से काफी होहल्ला मचा हुआ है लेकिन इस केंद्र शासित प्रदेश में शराब पीने वालों की संख्या देश के अन्य राज्यों की तुलना में काफी कम है। जम्मू-कश्मीर की कुल जनसंख्या के मात्र 9 प्रतिशत लोग ही शराब का सेवन करते हैं।
उत्तर भारत में जम्मू-कश्मीर सबसे निचले पायदान पर है। शराब पीने वाले लोगों की संख्या के आधार पर अगर देश के पहले दस राज्य चुने जाए तो जम्मू-कश्मीर का उसमें कहीं नाम नहीं है। देश में सबसे अधिक शराब पीने वाले लोग अरूणाचल प्रदेश में है जहां 52.7 प्रतिशत पुरुष व 24.2 प्रतिशत महिलाएं शराब पीती है। जम्मू-कश्मीर में मात्र 8.8 प्रतिशत पुरुष व 0.2 प्रतिशत महिलाएं ही शराब का सेवन करती है।
यह ताजा सर्वे नेशनल फेमिली हेल्थ ने किया है। एजेंसी ने राष्ट्रीय स्तर पर यह सर्वे किया है जिसमें प्रदेश को लेकर शराब पीने वालों के आंकड़े सामने आए है जो काफी सुखद है। जम्मू-कश्मीर में अगर शराब की बिक्री की बात करें तो वित्तीय वर्ष 2020-21 में 77887 बाेतलों की बिक्री हुई। इसमें सबसे ज्यादा स्थानीय स्तर पर तैयार होने वाली देसी शराब बिकी। आबकारी विभाग के आंकड़ों के अनुसार वित्तीय वर्ष 2020-21 में भारत निर्मित 122.57 लाख शराब की बोतलों की बिक्री हुई जबकि 225.70 लाख देसी शराब की बाेतलें बिकी और इस अवधि के दौरान प्रदेश में 64.58 लाख बीयर की बाेतलों की बिक्री हुई। अगर बात राजस्व की करें तो वित्तीय वर्ष 2020-21 में विभाग को 135381.20 लाख रुपये की आदमनी हुई।

देश में सबसे ज्यादा शराब पीने वाले टॉप-10 राज्य

अरूणाचल प्रदेश :

पुरुष : 52.7 प्रतिशत
महिलाएं : 24.2 प्रतिशत
तेलंगाना :

पुरुष : 43.3 प्रतिशत
महिलाएं : 6.7 प्रतिशत
सिक्किम :

पुरुष : 39.8 प्रतिशत
महिलाएं : 16.2 प्रतिशत
अंडमान निकोबार :

पुरुष : 39.1 प्रतिशत
महिलाएं : 5.0 प्रतिशत
गोवा :

पुरुष : 36.9 प्रतिशत
महिलाएं : 5.5 प्रतिशत
झारखंड :

पुरुष : 35.0 प्रतिशत
महिलाएं : 6.1 प्रतिशत
छत्तीसगढ़ :

पुरुष : 34.8 प्रतिशत
महिलाएं : 5.0 प्रतिशत
त्रिपुरा :
पुरुष : 33.1 प्रतिशत
महिलाएं : 6.2 प्रतिशत
मणिपुर :

पुरुष : 37.5 प्रतिशत
महिलाएं : 0.9 प्रतिशत
ओडिशा :

पुरुष : 28.8 प्रतिशत
महिलाएं : 4.3 प्रतिश

LEAVE A REPLY