आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रतिबंधित आतंकी संगठन जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के चीफ यासीन मलिक को दिल्ली कोर्ट में टेरर फंडिंग मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद आज सजा सुनाई जानी है। यासिन मलिक को सजा सुनाए जाने के बाद जम्मू में आतंकी बौखलाहट में किसी वारदात को अंजाम ना दें इसलिए जम्मू व कश्मीर में पुलिस ने शहर व उसके साथ लगते इलाकों में विशेष नाके स्थापित कर सुरक्षा व्यवस्था को और कड़ा कर दिया है। जम्मू में जहां अति व्यस्त इलाकों में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है वहीं कश्मीर में शहर में सुरक्षाबलों की गश्त बढ़ाने के साथ-साथ जगह-जगह विशेष नाके स्थापित कर दिए गए हैं। यही नहीं आने-जाने वाले लोगों की गहन तलाशी भी ली जा रही है। यही नहीं पुलिस, सेना व अर्द्धसैनिक बलों को हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है।
जम्मू संभाग के सीमांत क्षेत्रों में भी पुलिस व अर्द्ध सैनिक बल के जवान लगातार गश्त कर यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि कोई भी संदिग्ध व्यक्ति किसी प्रकार की वारदात या हिंसा को अंजाम ना दे पाए। जम्मू में राष्ट्रीय राजमार्ग नगरोटा और झज्जरकोटली में पुलिस, अर्द्ध सैनिक बल और सेना के जवान नाके लगा कर वाहनों की जांच कर रहे हैं। सभी थाना प्रभारियों को एसएसपी जम्मू चंदन कोहली ने निर्देश दिए हैं कि वे स्वयं बाजारों में गश्त करें और नाके लगा कर सुरक्षा को सुनिश्चित बनाएं।
साथ ही यह बताया जा रहा है कि आने जाने वाले लोगों पर भी पैनी नजर रखी जा रही है। धार्मिक स्थलों, बाजारों, रेलवे स्टेशन, बस अड्डे पर भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। वहीं कश्मीर में भी रात से ही सुरक्षा के इंतजाम कड़े कर दिए गए थे। सुरक्षाबल निरंतर बाजारों में गश्त लगाते नजर आते हैं। आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर पुलिस को खुफिया एजेंसियों से यह सूचना मिली है कि आतंकी संगठन जम्मू में ग्रेनेड हमला कर सकता हैं। जिसके चलते पुलिस ने केसी चौक से डोगरा चौक पर बने फ्लाई, बीसी रोड के ऊपर एक फ्लाइंग स्कवाड को तैनात किया है। ताकि वहां से कोई बस स्टैंड में यात्रियों को निशाना ना बना सके।
वहीं, जम्मू कश्मीर की खुफिया विंग सीआईडी के जवान भी सादा कपड़ों में शहर के सभी संवेदनशील स्थलों में घूम रहे है ताकि यदि संदिग्ध व्यक्ति या गतिविधि देखी जाती है तो उस पर तुरंत कार्रवाई जा सके। जम्मू में सभी संवेदनशील इमारतों नागरिक सचिवालय, उप राज्यपाल आवास व अन्य सरकारी भवनों के अलावा सुरक्षा बलों के शिविरों में भी सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। वहां आने वाले सभी लोगों से आने गहनता से तलाशी ली जा रही है।

 

LEAVE A REPLY