Curfew In Bhaderwah : डोडा और कश्तवाड़ के हालात के लिए डीजीपी ने जानिये क्या कहा
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने शुक्रवार को डोडा जिले के भद्रवाह में हालात के जल्द ही सामान्य होने कम्मीद व्यक्त करते हुए कहा कि सांप्रदायिक तनाव को शांत करने के लिए पूरा प्रयास किया जा रहा है। भाजपा के पूर्व प्रवक्ता द्वारा पैंगबर हजरत मुहम्मद के प्रति की गई कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों को लेकर भद्रवाह में वीरवार को तनाव पैदा हो गया था। हालात को काबू करने के लिए प्रशासन को भद्रवाह, डाेडा, किश्तवाड़ और रामबन में कर्फ्यू व निषेधाज्ञा का सहारा लेना पड़ा। श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा की वार्षिक तीर्थयात्रा के मद्देनजर लखनपुर, कठुआ में किए जा रहे सुरक्षा प्रबंधों का जायजा लेने के बाद पत्रकारों से बातची में पुलिस महानिदेशक ने कहा कि लाेगाें को संयम व समझदारी से काम लेते हुए सांप्रदायिक सौहार्द बरकरार रखना चाहिए। हम भद्रवाह में स्थानीय लोगों से लगातार संवाद कर रहे हैं। दोनों समुदायों के गणमान्य लोगों से बातचीत हुई है। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस मुकेश सिंह और मंडलायुक्त जम्मू इस समय भद्रवाह में हैं। हालात की लगातार निगरानी की जा रही है। जल्द ही हालात को हम सामान्य बना लेंगे।
उन्होंने कहा कि हमने भद्रवाह और उसके साथर सटे कुछ इलाकों में कर्फ्यू सिर्फ एहतियात के तौर पर लगाया है। उन्होंने कहा कि लोगों को उत्तेजित नहीं होना चाहिए बल्कि संयम बनाए रखना चाहिए। अगर कोई गलत बात करता है तो उसके खिलाफ कानून कार्रवाई करेगा। कुछ लोगों के बहकावे में आकर सड़कों पर आकर नारेबाजी करना, जुलूस निकालना अनुचित है। कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे कानून व्यवस्था और आपसी भाईचारे को नुक्सान पहुंचे।
ऐतराज जताने में संयम बरतने की सलाह : पुलिस महानिदेशक ने कहा कि यह सही है कि आपको अपना एतराज व्यक्त करने का पूरा हक है, लेकिन इसकी एक हद होती है। कोई ऐसा कदम नहीं उठाया जाना चाहिए, जिस पर पुलिस को बल प्रयोग करना पड़े या कोई सख्त कानूनी कार्रवाई करनी पड़े। कुछ लोग जानबूझकर कानून व्यवस्था को भंग करने वाली हरकतें करते हैं, वह भड़काऊ बयानबाजी करते हैं और जिससे कई बार सांप्रदायिक हिंसा भड़क जाती है। भद्रवाह में ऐसी स्थिति से बचने के लिए ही कर्फ्यू लगाया गया है।

LEAVE A REPLY