: जम्मू में कोरोना के मामले अब लगातार आ रहे हैं। गत शुक्रवार को भी 11 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। इसे देख अब स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग भी अलर्ट हो गया है। अस्पतालों में अब फिर से मास्क पहनकर आने की सलाह दी जा रही है।
नेशनल हेल्थ मिशन से मिले आंकड़ों के अनुसार 11 मामलों में 10 जम्मू संभाग के हैं। इनमें जम्मू जिले में सबसे अधिक पांच, ऊधमपुर दो, राजौरी, कठुआ और सांबा जिलों में एक-एक मामला आया। इसी तरह कश्मीर जिले में अब सिर्फ श्रीनगर जिले में ही एक मामला आया। इस दौरान आठ और मरीजों के स्वस्थ होने के बाद अब सक्रिय मरीजों की संख्या 71 हो गई है। इनमें जम्मू जिले में सबसे अधिक 52, ऊधमपुर में दो, राजौरी में तीन, सांबा में दो, कठुआ और रियासी में एक-एक सक्रिय मामला है। कश्मीर में श्रीनगर जिले में आठ और बारामुला में दो मामले हैंं।
इसी तरह कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान जारी है। 12 से 14 साल के आयु वर्ग में 252 बच्चों ने पहली डोज ली जबकि 3148 ने दूसरी डोज ली। 2091 ने सतर्कता डोज ली। अभी तक जम्मू-कश्मीर में दो करोड़, 31 लाख तीस हजार से अधिक डोज लोगों को दी जा चुकी है।

वहीं लगातार अब मामले सामले आने के बाद राजकीय मेडिकल कालेज की इमरजेंसी सहित अन्य जगहों पर लोगों को बिना मास्क बंदर नहीं आने दिया जा रहा है। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि यह सब मरीजों के स्वास्थ्य को देखकर ही किया जा रहा है।
जीएमसी जम्मू में योग पर लेक्चर : योग महोत्सव के तहत राजकीय मेडिकल कालेज जम्मू में शुक्रवार को कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें प्रिंसिपल जीएमसी जम्मू डा. शशि सूदन मुख्य अतिथि थी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में हर किसी को जिंदगी में किसी ने किसी प्रकार का तनाव है। लेकिन पिछले कुछ वर्ष में स्वास्थ्य कर्मियों को अन्य लोगों की तुलना में अधिक तनाव रहा। उन्होंने कहा कि एक स्वस्थ शरीर में एक स्वस्थ मस्तिष्क के होने से स्वास्थ्य कर्मी मरीजों की बेहतर ढंग से सेवा कर सकेंगे। जम्मू विश्वविद्यालय में कानून विभाग के प्रोफेसर डा. अरविंद शर्मा ने भी योग पर अपने विचार रखे। बाद में कुछ देर के लिए योग आसन भी करवाए गए। कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डा. राकेश बहल ने कार्यक्रम का संचालन किया।

LEAVE A REPLY