आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रक्षामंत्री राजनाथ सिंह एक बार फिर 24 जुलाई को जम्मू दौरे पर आ रहे हैं। जम्मू-कश्मीर पीपुल्स फोरम देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों की याद में एक कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को इसी कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि आमंत्रित किया गया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इस कार्यक्रम के दौरान शहीदों के परिजनों काे सम्मानित करेंगे। जम्मू-कश्मीर पीपुल्स फोरम की ओर से 24 जुलाई को आयोजित सम्मान समारोह जम्मू के गुलशन ग्राउंड में आयोजित किया जाएगा। फोरम के सदस्य ने बताया कि इस सम्मान समारोह के दौरान रक्षामंत्री राजनाथ सिंह 1947 से अब तक देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे। उसके उपरांत वह उनके परिवारों का सम्मान भी करेंगे। आपको बता दें कि इससे पहले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह 16-17 जून को जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर आए थे। इस दौरान उन्होंने नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सुरक्षा परिदृश्य की समीक्षा की और वहां तैनात जवनों के बीच कुछ समय बिताकर उनका मनोबल भी बढ़ाया था।
इसके साथ ही पहले दिन कश्मीर पहुंचने पर राजनाथ सिंह ने श्रीनगर में 15 कोर मुख्यालय में संचार उपकरणों का निरीक्षण किया था। उन्होंने कश्मीर में टारगेट किलिंग पर अंकुश लगाने और अमरनाथ यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए कई अहम निर्देश भी दिए। साथ ही जानकारी के अनुसार रक्षामंत्री ने कश्मीर घाटी में एलओसी से सटे अग्रिम इलाकों का दौरा कर सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया। आपको बता दें कि पहले दिन राजनाथ सिंह बारामुला जिले के उड़ी सेक्टर में पहुंचे और अग्रिम इलाकों व चौकियों का निरीक्षण किया और वहां तैनात जवानों से बातचीत भी की। दौरे के अंतिम दिन 17 जून को रक्षामंत्री जम्मू पहुंचे, जहां वह महाराजा गुलाब सिंह के 200वें राज तिलक दिवस पर आयोजित समारोह में भी शामिल हुए थे। अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि सम्मान समारोह के उपरांत रक्षामंत्री एक बार फिर सेना व पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर अमरनाथ यात्रा में की गई सुरक्षा व्यवस्था व कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जारी अभियान की भी समीक्षा करेंगे।

LEAVE A REPLY