आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कश्मीर में आतंकियों की टारगेट किलिंग की साजिश को देखते हुए जम्मू कश्मीर सरकार ने कश्मीरी हिंदुओं की सुरक्षा के लिए अहम कदम उठाया है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा है कि प्रधानमंत्री पैकेज के तहत कश्मीर में तैनात कश्मीरी हिंदू कर्मचारियों की तैनाती सुरक्षित जिलों और तहसील मुख्यालयों में की जाएगी। इसके साथ ही जम्मू कश्मीर पुलिस उन्हें व उनके परिवारों को पूरी सुरक्षा देगी। कश्मीरी हिंदुओं की सभी चिंताओं को समयबद्ध तरीके से दूर किया जाएगा। उपराज्यपाल ने कहा कि कश्मीर में प्रदर्शन करने वाले कश्मीरी हिंदुओं पर आंसू गैस छोड़ने और बल प्रयोग के मामले में भी जांच होगी। इसमें दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।
बडग़ाम जिले के चाडूरा में तहसील कार्यालय में घुसकर कश्मीरी हिंदू कर्मचारी राहुल भट्ट की हत्या के विरोध में जम्मू से कश्मीर तक उनके समुदाय के लोगों में आक्रोश है। राहुल भट्ट को प्रधानमंत्री राहत पैकेज के तहत ही कश्मीर में नौकरी मिली थी। उनकी हत्या से कश्मीरी हिंदू समाज में असुरक्षा का भाव पैदा हुआ है। इस मुद्दे को लेकर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष रविंद्र रैना ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से श्रीनगर स्थित राजभवन में जाकर मुलाकात की है। उनके साथ संगठन महामंत्री अशोक कौल भी थे। इस मुलाकात के दौरान ही उपराज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री राहत पैकेज के तहत नियुक्त कर्मियों के कल्याण व सुरक्षा संबंधी मुद्दों का चरणबद्ध तरीके से समाधान होगा। जम्मू कश्मीर पुलिस को इन कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए फूलप्रूफ इंतजाम करने के लिए कहा गया है। राहुल भट्ट की हत्या के मामले में एसएआइटी सभी पहलुओं पर गौर करेगी।

LEAVE A REPLY