आपकी जानकारी के लिए बात दें एक बड़ा खुलासा सामने आया है कि जम्मू.कश्मीर सरकार और शिक्षा विभाग साक्षरता के लिए कई अभियान चला रहा हैए लेकिन जागरूकता की कमी के चलते प्रदेश के हजारों बच्चे पढ़ाई से अभी भी वंचित हैं। समग्र शिक्षा के प्रदेश भर में करवाए गए श्तलाशश् सर्वे में स्कूल न जाने वाले बच्चों के चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। सर्वे में खुलासा हुआ है कि प्रदेश भर में 93 हजार 480 बच्चे आज भी स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। इनमें 40 हजार के करीब बच्चों ने तो दाखिला तक नहीं लिया हैए जबकि 45 हजार के करीब बच्चों ने कक्षा पांचवीं और छठी के बाद स्कूल छोड़ दिया।
समग्र शिक्षा ने 20 जिलों के 188 जोन में तलाश सर्वे शुरू किया। सर्वे में कुल 20 लाख 55 हजार 843 बच्चों को शामिल किया। इसमें 93 हजार 480 ऐसे बच्चे मिले जिन्होंने किसी न किसी कारणों के चलते स्कूल छोड़ दिया। प्रदेश में रामबन जिले में सबसे ज्यादा 10492 बच्चे हैंए जबकि सांबा और पुलवामा में सबसे कम क्रमशरू 712 और 715 बच्चे हैं। रामबन के बाद राजोरी और उधमपुर में क्रमशरू 7443 और 7619 बच्चे स्कूल छोड़ चुके हैं। इतनी बड़ी संख्या में बच्चों का स्कूल छोड़ना चिंता का विषय है। स्कूल शिक्षा विभाग हर साल दाखिला प्रक्रिया शुरू होने से पहले ष्आओ स्कूल चले अभियानष् सहित अन्य पहल चलाता है। स्कूल शिक्षा विभाग ने दावा किया है कि इस शैक्षणिक सत्र में 1 लाख 67 हजार बच्चों का दाखिला हुआ है।

LEAVE A REPLY