आपकी जानकारी के लिए बता दें कि खबर यह है कि नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डा फारूक अब्दुल्ला ने स्कूलों में रघुपति राघव राजा राम भजन को गंवाए जाने का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि कोई मुसलमान भजन गाने से हिंदू नहीं हो जाएगा। मैं खुद भी तो भजन गाता हूं।
कश्मीर में विभिन्न सरकारी स्कूलों में महात्मा गांधी की 135वी जयंती के मौके पर उनके प्रिय भजन रघुपति राघव राजा रामण्ण्ण्ण्ईश्वर अल्लाह तेरो नाम गाने की छात्र तैयारी कर रहे हैं। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने इस पर कड़ा एतराज जताते हुए कहा था भाजपा अब कश्मीर में अपने हिंदूवादी एजेंडे को थोप रही है। मुस्लिम छात्रों को हिंदु धर्म की प्रार्थना के लिए मजबूर किया जा रहा है।
इसके साथ ही जानकारी के अनुसार जम्मू प्रांत के बटोत में नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकर्ताओं के एक सम्मेलन के बाद पूर्व मुख्यमंत्री डा फारूक अब्दुल्ला से जब इस संदर्भ में पूछा गया तो उन्होंने महबूबा मुफ्ती का नाम लिए बगैर कहा कि हरेक की अपनी राय हो सकती हैए लेकिन भजन गाना कोई सांप्रदायिक नहीं है। आप किसी भी मजहब से हों और अगर आपको किसी दूसरे मजहब की कोई बात अच्छी लगती है तो उसमें कोई बुरी बात नहीं है।

 

LEAVE A REPLY